इस लड़के ने किया मंगल ग्रह पर रहने का दावाः

इस लड़के ने किया मंगल ग्रह पर रहने का दावाः वैज्ञानिक हुए हैरान

Articles Blog

इस लड़के ने किया मंगल ग्रह पर रहने का दावाः वैज्ञानिक हुए हैरान

पृथ्वी के बाद मंगल ग्रह एक ऐसा ग्रह है, जहां पर जीवन होने की आशंका जताई जाती रही है। वैज्ञानिक अभी भी मंगलग्रह पर जीवन की तलाश कर रहे हैं। ऐसे में रूस के एक बच्चे ने अजीबो-गरीब खुलासा किया है। उसका कहना है कि वह पिछले जन्म में मंगल ग्रह पर रह चुका है। मंगल ग्रह पर एलियन होने के कर्इ सबूत हमें मिले हैं फिर भी इस तथ्य पर सच की मोहर अब तक नहीं लग सकी है. लेकिन एलियन या दूसरे ग्रह में प्राणियों के होने की खबर हमें चंद धुंधली तस्वीरों में ही मिलती है.

इस लड़के ने किया मंगल ग्रह पर रहने का दावाः

रूस के वोल्गोग्राड में रहने वाले युवक बोरिसका किपरियानोविच (20 वर्षीय) ने चौंकाने वाले दावे किए हैं लेकिन उसके दावों की हकीकत जांचने का पृथ्वी पर कोई तरीका मौजूद नहीं है। वहीं बोरिस्का के माता-पिता का दावा है कि वे आम जन्म से ही आम बच्चों की तरह नहीं था। वे 2 हफ्ते में ही बिना किसी सहारे के अपना सिर उठा लेता था। और वह कुछ ही महीनों में बोलने भी लग गया था। दावा करने वाले इस रूसी लड़के बोरिस्का की उम्र 20 साल है, उसका जन्म 1996 में हुआ था. उसका कहना है कि मंगल ग्रह पर सात फीट लंबे एलियन रहते हैं, जिनके पास पावरफुल टेक्नाॅलजी है. मैं भी वहीं से आया हूं, जिस साल मेरी मौत मंगल ग्रह में हुर्इ उसी साल 1996 में पृथ्वी पर मैं जन्मा था.

बोरिस्का के माता-पिता ने बताया कि वह 2 साल की उम्र में ही लिखना, पढ़ना और ड्राइंग करना सीख गया था। इसे देखकर डॉक्टर भी हैरान थे। उन्होंने कहा कि वह अक्सर ऐसे विषयों पर चर्चा करता था जिनके बारे में उन्होंने उसे कभी सिखाया ही नहीं था,  जैसे कि एलियंस की सभ्यताओं के बारे में। बोरिसका की मानें तो पृथ्‍वी पर रहने वालों की जिंदगी में बदलाव तब आयेगा जब ईजिप्‍ट के स्‍फिंग्‍स का रहस्‍य खुलेगा। मानव को कई रहस्‍यों को जानने और विकास करने के लिए उनमें छिपे ज्ञान को अनलॉक करना पड़ेगा। इन रहस्‍यों के ताले का कोड स्‍फिंग्‍स के कानों के पीछे कहीं छुपा है। पर वो दरसल क्‍या है और कैसे अनलॉक होगा ये बात उन्‍हें याद नहीं आ रही। This boy claims to be living on Mars: Scientists are shocked

इस लड़के ने किया मंगल ग्रह पर रहने का दावाः

जब एक वीडियो क्लिप में उससे सौर मंडल के बारे में पूछा गया, तो उन्होंने कहा, मैंने उन्हें (मंगल ग्रह के लोगों को) अंतरिक्ष यान से देखा था। आप उन्हें मंगल ग्रह से नहीं देख सकते हैं। जब मैं अंतरिक्ष में उड़ रहा था और जब मैं मंगल पर रहता था, तो मैंने उन्हें देखा था। बोरिस्का ने जोर देकर कहा कि वह मंगल ग्रह में पायलट था और पृथ्वी पर आया था। उसने कहा कि मंगल ग्रह के लोगों का प्राचीन मिस्र के साथ एक मजबूत संबंध है। गीजा के महान स्फिंक्स में मानव जीवन के बारे में बड़ा रहस्य छिपा हुआ है। मगर, वह क्या है यह मुझे याद नहीं है। जब स्फिंक्स को खोला जाएगा, तो मानव जीवन बदल जाएगा। 

इन रहस्यों के ताले का कोड स्फिंक्स के कानों के पीछे कहीं छुपा है। पर वह दरसल क्या है और कैसे अनलॉक होगा, यह बात उसे याद नहीं आ रही है। किपरियानोविच के माता पिता की मानें तो वह सामान्य बच्चों की तुलना में कहीं ज्यादा होशियार था। 1996 में पैदा हुए बोरिसका ने महज 4 महीने में शब्दों को बोलना और 8 महीने में पूरे वाक्य बोलना शुरू कर दिए थे।
इस लड़के ने किया मंगल ग्रह पर रहने का दावाः
एक साल का होते-होते वह समाचार पत्र को पूरा पढ़ने लगा था। 3 साल की उम्र में उसने ब्रह्मांड के रहस्‍यों पर बातें करनी शुरू कर दी थीं। उसका यह भी कहना है कि मंगल ग्रह के वासी सात फीट तक लंबे होते हैं और वे पृथ्वी के नीचे रहते हैं और कार्बन डाई ऑक्साइड अपनी सांस में ग्रहण करते हैं। उसका यह भी दावा है कि मंगलवासी अमर होते हैं और 35 वर्ष की आयु के बाद उनकी उम्र बढ़नी बंद हो जाती है। This boy claims to be living on Mars: Scientists are shocked